खतरे में इमरान खान की कुर्सी, बेटी के पिता होने की बात छुपाने का आरोप

पाकिस्तान की लाहौर हाईकोर्ट इमरान खान को अयोग्य करार देने की याचिका पर सोमवार को सुनवाई करेगा. इसमें उन पर ईमानदार और धर्मपरायण नहीं होने के साथ ही आम चुनाव में नामांकन में गलत जानकारी देने का आरोप लगाया गया है. याचिका में कहा गया कि इमरान खान ने अपनी एक बेटी होने की बात छिपाई है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की कुर्सी खतरे में पड़ सकती है. उनके खिलाफ लाहौर हाई कोर्ट में एक याचिका दाखिल की गई है, जिसमें पाकिस्तानी पीएम इमरान खान को अयोग्य करार देने की मांग की गई है.

इस याचिका में इमरान खान पर ‘ईमानदार और धर्मपरायण’ नहीं होने के साथ ही साल 2018 के आम चुनाव के नामांकन पत्र में एक बेटी का पिता होने की बात छिपाने का आरोप लगाया गया है. लाहौर हाई कोर्ट इस मामले में सुनवाई के लिए राजी हो गया है. पाकिस्तानी कोर्ट इमरान खान को अयोग्य करार देने की याचिका पर सोमवार को सुनवाई करेगा.

याचिका में दलील दी गई है कि इमरान खान ने पाकिस्तान के संविधान के अनुच्छेद 62 और 63 का उल्लंघन किया है. लिहाजा उनको अयोग्य घोषित किया जाए. पाकिस्तानी संविधान के अनुच्छेद 62 और 63 में संसद सदस्य के लिए ‘सादिक और अमीन’ (ईमानदार और धर्मपरायण) होने की शर्त लगाई गई है.

पाकिस्तानी अखबार डॉन के मुताबिक याचिका में अना-लुइसा (सीता) व्हाइट की बेटी टायरिन जेड खान व्हाइट को इमरान खान की बेटी बताया गया हैं. इमरान खान ने साल 2018 के आम चुनाव में अपने नामांकन पत्र में टायरियन जेड खान व्हाइट के कथित पिता होने की बात छिपाई थी.

सीता व्हाइट को इमरान खान की पूर्व गर्लफ्रेंड बताया जा रहा है. इसको लेकर पहले भी कई बार इमरान खान से सवाल पूछा जा चुका है, लेकिन उन्होंने इस पर कभी कोई जवाब नहीं दिया. इसके अलावा सीता व्हाइट ने भी अपनी बेटी टायरियन जेड खान व्हाइट को इमरान खान का  बायोलॉजिकल पिता बताया था.

सीता व्हाइट रईस कारोबारी लॉर्ड गॉर्डन व्हाइट की बेटी हैं. हालांकि अब वह इस दुनिया में नहीं हैं. बताया जा रहा है कि लॉर्ड गॉर्डन व्हाइट ने कहा था कि अगर उनकी बेटी सीता  व्हाइट ने इमरान खान से शादी की, तो उसको वो अपनी संपत्ति से एक पैसा भी नहीं देंगे. इसके  बाद इमरान खान और सीता व्हाइट की शादी नहीं हो पाई थी.

शनिवार को लाहौर हाई कोर्ट ने इमरान खान के खिलाफ दायर इस याचिका को स्वीकार कर लिया है. अब इस मामले में 11 मार्च को सुनवाई होगी. इससे पहले भी इमरान खाने के लिए टायरियन जेड खान व्हाइट को लेकर याचिका दाखिल की जा चुकी है. हालांकि कोर्ट ने उनके खिलाफ दाखिल याचिका को खारिज कर दिया था.

अब इमरान खान के खिलाफ नई याचिका उस समय दाखिल की है, जब भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव चल रहा है. आपको बता दें कि 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ पर आत्मघाती हमला हुआ था. इसकी जिम्मेदारी पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी.

इसके बाद भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंपों पर एयर स्ट्राइक की थी. इसमें 280 से ज्यादा आतंकियों के मारे जाने की बात कही जा रही है. भारत की इस कार्रवाई के बाद पाकिस्तान ने भारतीय सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने की कोशिश की थी, जिसको भारतीय वायुसेना ने विफल कर दिया था. साथ ही पाकिस्तान के F-16 लड़ाकू विमान को मार गिराया था.

praveen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *